ख ख‌ सू ब्रेकिंग : पर्री जमीन घोटाला……..पुलिस ने आंख में पर्दा डाला विवश महिलाओं ने छोड़ी न्याय की आस अब मुख्यमंत्री के दरबार मे लगाएंगी गुहार…?

सूरजपुर:- ग्राम पर्री की उन आदिवासी महिलाओ को न्याय मिल पायेगा इस पर सवाल दर सवाल खड़े हो रहे है। महिलाओं का कसूर सिर्फ इतना है कि उनने अपनी उस जमीन का सौदा किया जिसका फिलहाल उन्हें जरूरत नही थी पर दलाल व भूमाफियाओ ने तो उसके बदले उनकी बहुमुल्य जमीन को धोखाधड़ी कर दलालों ने रजिस्ट्री करा ली और वे चार दिन पहले फरियाद लेकर कोतवाली 5 लोगों के विरुद्ध आवेदन लेकर पहुंची थी जिसमे मानपुर निवासी सलीम, मानपुर निवासी नदीम , निवासी नमदगिरी मिथलेश ,गौतम सिंह ,छत्रपाल और पटेल इन लोगों के विरुद्ध थाने में शिकायत किया था। थाने में भी समझौता कराने पहुंचे कुछ दिग्गज नेता परंतु महिलाओं को सिर्फ इधर से उधर भटकाने लगे है। भोली भाली महिलाओं को अब समझ नही आ रहा की उन्हें न्याय मिल भी पायेगा या पूरी जमीन ही भूमाफिया व दलाल निगल लेंगे। अधिकारी भी चुपचाप तमाशा देख रहे है।जिससे यह तो तय है कि अधिकारी भी सिर्फ बयान छपने के लिए देते है कि थाने आने वालों को तुरंत न्याय मिलना चाइये यह सही नही दिखता है।

,महिला न्याय की आस में लगा रही पुलिस दफ्तरों के चक्कर,, पुलिस की तानाशाही पीड़िता पर पड़ रही भारी,,वहीं सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सत्ता पक्ष से जुड़े नेता भी मामले को निपटाने व समझौता कराने आदिवासी महिलाओं पर दबाव बनाने के साथ पांच – दस लाख रुपये देने का लालच भी दिये,,हलाकि महिलाओं ने इस मामले मे समझौता कराने पहुंचे नेताओं को दो टूक ज़वाब देते हुए इंसाफ की गुहार लगाई है,,

तो वहीं कहीं ना कहीं कुछ अधिकारी भी इसमें शामिल है व कुछ आर आई पटवारी भी इस मामले में सक्रिय रहे।

अब देखने वाली बात यह है कि ज़मीन संबंधी मामलों में गंभीर कलेक्टर व तेज तर्रार एस पी कब सुध लेंगे और आदिवासियों को कब हक मिलेगा।

278

About Post Author

error: Content is protected !!