ख ख‌ सू एक्सक्लुसिव : शिक्षा और शिक्षक गुणवत्ता के अधिकारियों के दावे खोखले, , सोमरस के खुशबू के साथ प्रधानपाठक को राष्ट्रपति उपराष्ट्रपति का भी नही नाम की जानकारी,, स्कूल में भी नही बदला वर्तमान राष्ट्रपति का नाम,,

सूरजपुर– सूरजपुर के ग्रामीण इलाकों के स्कुलो की बदहाली आए दिन सामने आते रहती है,, ऐसे में शिक्षकों के भी बदहाली की जानकारी सुन आप चौंक जाएंगे,,

दरअसल सूरजपुर के भैयाथान ब्लॉक के कटिण्दा प्राथमिक स्कूल के प्रधान पाठक के खस्ताहाल देख आपको दया आ जाएगी,, जहा न तो इनके पैरों में जुते चप्पल है और न ही वेशभूषा से किसी शिक्षक की तरह नजर आते है,, इतना ही नही स्कूल के सामान्य जानकारी पटल पर पूर्व राष्ट्रपति और उप राष्ट्रपति के नाम दर्ज है,, हालांकि प्रधानपाठक महोदय को भी खुद नए राष्ट्रपति , उप राष्ट्रपति और प्रदेश के शिक्षा मंत्री का भी नाम नही पता है,,

और जब इनके पास खड़े होते ही सोमरस की महक आई तो प्रधानपाठक की दलील भी गजब थी ,, प्रधानपाठक का कहना है कि रात में समीप के गांव में भोज था इसलिए रात्रि भोज में ही सोमरस का सेवन कर लिए जिसकी महक सुबह तक नही गयी और उसी हालत में बिना जूते चप्पल के स्कूल तक पहुच गए,, लेकिन स्कूल मंदिर है और मंदिर में कभी शराब सेवन स्कूल में नही करते,, वैसे स्कूल के बाहर से सेवन कर आ चुके थे महोदय।

वही पूरे मामले की जानकारी डिप्टी कलेक्टर नंदजी पांडे को मिलने के बाद शिक्षा विभाग को निर्देशित कर जांच की बात करते नजर आए,,

बहरहाल जिला प्रशासन और शिक्षा विभाग स्कुलो की गुणवत्ता सुधारने के लिए जमीनी स्तर पर कई प्रयास करने के दावे करते नजर आते है लेकिन एक प्रधानपाठक के खस्ताहाल की हालत स्कुलो के साथ शिक्षा के गुणवत्ता पर भी कई सवाल खड़े करते नजर आ रहे है,,

494

About Post Author

error: Content is protected !!