एसईसीएल एरियाज़ में फिर से कबाड़ चोरों की दस्तक,,सेंध लगा हजारों के कबाड़ चुरा ले गए,,

सूरजपुर । एसईसीएल बिश्रामपुर क्षेत्र के कोयला खान क्षेत्र में एक बार फिर कबाड़ चोरो का गिरोह सक्रिय हो गया है। कबाड़ चोर गिरोह के सदस्य आये दिन कार्यशालाओं में धावा बोलकर बेशकीमती कलपुर्जो की चोरी की वारदातों को अंजाम दे रहे है। चोरियों में पुलिस व एसईसीएल के सुरक्षा कर्मचारियों की भूमिका संदिग्ध है।

चोरो ने एक्सवेशन वर्कशॉप व रीजनल वर्कशॉप में सेंध लगाकर हजारो रुपये लागत के बेशकीमती सामानों की चोरी कर ली। वहीं नीलाम हुई शक्ति ड्रगलाइन से हजारो रुपये लागत के चार टन लोह सामग्रियों की चोरी कर ली।एसईसीएल के सुरक्षा विभाग ने शुक्रवार को बिश्रामपुर पुलिस को सूचना दी कि क्षेत्र के कोयला खान क्षेत्र में सकरी ए चोर गिरोह के सदस्यों ने बीते गुरुवार के रात को ओसीएम परियोजना स्थित शक्ति ड्रगलाइन मशीन में हमला बोलकर रात्रि ड्यूटी में तैनात सुरक्षा प्रहरी भुवनेश्वर समेत नीलाम ड्रगलाइन के ठेकेदार के वहां मौजूद कर्मचारियों को धमकाकर काट कर रखे गए चार टन लोह सामग्रियों की चोरी कर ली।

वहीं एक अन्य चोरी का हवाला देते हुए शिकायत की कि चोरों ने बीते बुधवार की रात को एक्सवेशन वर्कशाप की चारदीवारी में लगे लोहे के ग्रिल को काटकर वर्कशॉप की दीवार में सेंध लगाकर 60 हजार रुपये लागत के 3 नग ग्रेडर की कटिंग प्लेट की चोरी कर ली है। हालांकि पुलिस ने उक्त दोनों मामले में शुक्रवार की शाम को समाचार लिखे जाने तक अपराध दर्ज नहीं किया है।तीन दिन पूर्व चोर गिरोह के सदस्यों ने एसईसीएल के रीजनल स्टोर में सेंध लगाकर हजारो रुपये लागत के बेस कीमती सामानों की चोरी कर ली थी। उसके बावजूद प्रबंधन ने चोरी की रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई है।

फिर सक्रिय हो गए कबाड़ चोर..

एसईसीएल के रीजनल स्टोर में घटित 14 लाख रुपये से अधिक लागत के केबल चोरी की वारदात के बाद थमा कबाड़ का अवैध कारोबार फिर प्रारंभ हो गया है। कबाड़ चोरों को कथित पुलिसिया संरक्षण के आरोप लग रहे हैं। कबाड़ चोरी की वारदातों को रोक पाने में एसईसीएल का सुरक्षा महकमा पूरी तरह नकारा साबित हो रहा है। यही कारण है कि सुरक्षा कर्मियों की भूमिका पर भी सवालिया निशान लग रहा है।

दहशत में ड्यूटी करने मजबूर..

कोयला खान क्षेत्रों में आए दिन हथियारबंद चोरों द्वारा रात्रि पाली में ड्यूटी में तैनात कोयला कर्मचारियों को बंधक बनाकर दहशत के माहौल में चोरी की वारदात को अंजाम देने से रात्रि पाली में ड्यूटी करने वाले एसईसीएल कर्मचारी दहशत में ड्यूटी करने को मजबूर है। कोयला कर्मचारियों ने क्षेत्रीय महाप्रबंधक से सुरक्षा व्यवस्था चुस्त करने की मांग की है।((वर्जन)कोयला खान क्षेत्रों में आतंक का माहौल निर्मित कर घटित की जा रही चोरी की वारदातों से कोयला कामगारों में दहशत का माहौल निर्मित है। कभी भी गंभीर दुर्घटना घटित होने की संभावना से नकारा नहीं जा सकता है। कबाड़ चोरों को पुलिस का संरक्षण होने की चर्चाओं से पुलिस विभाग की छवि पर भी प्रश्न चिन्ह लग रहा है। कोयला खान क्षेत्रों में सुरक्षा व्यवस्था को भी चुस्त करने की जरूरत हैसुजीत सिंह सदस्य क्षेत्रीय संयुक्त सलाहकार समिति(फोटो मेल किया)

287

About Post Author

error: Content is protected !!