लापता मासूम बच्चे का सुराग नहीं लगने से परिजनों का फूटा गुस्सा,थाने का घेराव कर किया घंटो प्रदर्शन…!!

Google News

Surajpur। सात दिनों बाद भी लापता बच्चे का कोई सुराग न मिलने से आक्रोशित हुए नगरवासियों ने नगर में चारों ओर रैली निकालकर रविवार को प्रतापपुर थाने का घेराव कर शासन प्रशासन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।बता दें कि स्वामी आत्मानंद अंग्रेजी माध्यम स्कूल का छात्र व नगर के होटल व्यवसाई अशोक कश्यप का 10 वर्षीय पुत्र 29 जनवरी को स्कूल से आने के बाद अपने होटल जा रहा हूं ,बोलकर घर से निकला था इसके बाद से ही वह लापता है। पुलिस की लाख कोशिशों के बावजूद बच्चे का कोई भी सुराग नहीं मिल पा रहा है।

पुलिस ने बच्चे की तलाश में अपनी पूरी ताकत झोंक रखी है पर बच्चे का कहीं पर भी कोई पता नहीं चल पा रहा है। पुलिस द्वारा बच्चे का पता लगाने में अब तक असफल रहने से नाराज लोगों ने पहले तो नगर के हनुमान मंदिर पक्की तालाब परिसर में एक बैठक का आयोजन किया। जिसमें लापता बच्चे के संबंध में चर्चा की गई। चर्चा उपरांत बड़ी संख्या में बैठक में मौजूद आक्रोशित लोगों ने “रिशु को वापस लाना होगा पुलिस प्रशासन होश में आओ”शासन प्रशासन मुर्दाबाद के नारे लगाते हुए, नारे लगाते हुए नगर में रैली निकाली। इसके बाद सभी लोग थाने पहुंचे और वहां भी शासन प्रशासन पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। इस बीच एसडीओपी अरुण नेताम, थाना प्रभारी किशोर केरकेट्टा, एएसआई हरिशंकर तिवारी ने आक्रोशित लोगों को समझाइश देते हुए बताया कि पुलिस बच्चे की तलाश में कोई भी कसर नहीं छोड़ रही है।

बच्चे की जानकारी के साथ उसके लापता होने की सूचना सूरजपुर जिला सहित अन्य क‌ई जिलों के सभी थाना-चौकियों में भी दी गई है। बच्चे की तलाश के लिए सभी आधुनिक तकनीकों की भी सहायता ली जा रही है साथ ही संदिग्ध व्यक्तियों को भी थाने में बैठाकर पूछताछ की जा रही है। पुलिस अधिकारियों ने लोगों से कहा कि आप लोग पुलिस का सहयोग करें पुलिस बच्चे की तलाश करने हर संभव प्रयास कर रही है जल्द ही बच्चे का पता लगा लिया जाएगा। फिलहाल पुलिस की समझाइश के बाद कड़ी मेहनत से लोग शांत होकर अपने घरों को जरूर लौट गए हैं पर लोगों का कहना था कि यदि पुलिस ने जल्द ही बच्चे का पता नहीं लगाया तो वे उग्र आंदोलन करेंगे। बच्चे के लापता होने के विषय को लेकर इससे पूर्व में भी पूरी प्रमुखता से समाचार प्रकाशित किया जा चुका है।चक्काजाम की दी चेतावनीथाने का घेराव करने पहुंचे आक्रोशित नगरवासियों ने पुलिस को एक ज्ञापन भी सौंपा है। जिसमें बच्चे के लापता होने से संबंधित विवरण दर्शाते हुए चेतावनी दी ग‌ई है कि यदि पुलिस सोमवार की शाम छह बजे तक भी बच्चे का सुराग नहीं लगा पाती है तो नगर के मुख्य मार्ग पर सभी नगरवासियों द्वारा चक्का जाम किया जाएगा जिसकी समस्त जवाबदारी पुलिस प्रशासन की होगी। चक्का जाम के लिए समस्त नगर वासी व्यापारी चक्का जाम का रूपरेखा तैयार कर लिए हैं और टायर जलाकर उग्र प्रदर्शन करते हुए चक्का जाम सोमवार शाम 6:00 बजे से किया जाएगा उग्र भीड़ को देखते हुए पुलिस ने जनता को किसी तरह से आरोपियों को जल्द पकड़ने की बात कह कर शांत किए हैं।

अगर बच्चा जल्द से जल्द नहीं मिलता है तो नगर वासी सहित महिला पुरुष बच्चे सभी कोई हर चौक चौराहे पर प्रदर्शन करेंगे चक्का जाम करेंगे अपने प्रतिष्ठानों को बंद रखेंगे जिसकी संपूर्ण जवाबदारी छत्तीसगढ़ सरकार की होगी।डाग स्क्वायड की भी ली जा चुकी है मददबच्चे की तलाश करने पुलिस द्वारा 31 जनवरी को डाग स्क्वायड टीम को भी बच्चे के घर पर ले जाया गया था जहां टीम के श्वान ने बच्चे के घर के सामने स्थित पक्की तालाब की ओर बच्चे के जाने का इशारा किया था।

जिसके बाद सूरजपुर से डीडीआर‌एफ के गोताखोरों ने आकर तालाब में प्रवेश करते हुए कैमरे व नाव की मदद से पूरे तालाब को छान दिया था पर वहां भी बच्चे का कोई सुराग नहीं मिल सका था।

191

About Post Author

error: Content is protected !!