36 घंटे के निर्जला व्रत का छठ व्रती ने उगते सूर्य को अर्घ्य देकर किया समापन आज ,,,

Surajpur : उगते सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही छठ महापर्व का आज समापन हो गया जहां देश के अलग-अलग राज्यों में छठ पूजा के लिए नदियों और तालाबों के किनारे बने घाटों पर व्रती महिलाओं, उनके परिवार के सदस्यों ने उदयगामी सूर्य की पूजा की और चार दिन तक चलने वाले इस महापर्व का पारण किया।

घाटों पर सुबह से छठ व्रती और छठी मैया के भक्त भगवान भास्कर के उदय का इंतजार कर रहे थे , वहीं सूर्य के उदय के साथ ही व्रतियों ने घुटने भर पानी में उतरकर उन्हें अर्घ्य समर्पित किया और इसके साथ ही अपने 36 घंटे के निर्जला व्रत का समापन किया बता दें कि चार दिवसीय छठ पर्व की शुरुआत 17 नवंबर को नहाय-खाय के साथ हुई थी, उदयगामी सूर्य को अर्घ्य देने वाली व्रतियों ने नाक से लेकर माथे तक सिंदूर लगाया और भगवान भास्कर से अपने सुहाग की लंबी उम्र की कामना की. इसमें महिलाएं और पुरुष व्रती अपने परिवार के कल्याण व स्वास्थ्य के लिए छठी मैया से प्रार्थना करते हैं। वही सूरजपुर जिले के रेड नदी के किनारे छठ पर्व धूमधाम से मनाया गया ।

इस मौके पर जहाँ पुलिस ने सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए थे वहीं नपा द्वारा भी श्रद्धालुओं की सुविधा हेतु व्यापक तैयारियां की गई थी। व्यवस्था बनाने छठ पूजा समिति के तमाम सदस्य सक्रिय रहे।

735

About Post Author

error: Content is protected !!